वाराणसी। इन दिनों वाराणसी पुलिस की सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर काफी चर्चा में है, अचनाक से इसपर सवार होकर पुलिस वालों को देखकर लोग थोड़े हैरान हुए क्योंकि उन्हें समझ में ना आया कि ये चीज क्या है। बाद में जब जानकरी हुई कि ये सेल्फ बैलेंसिंग इलेक्ट्रिक पर्यटकों की सुरक्षा के लिए लाए गए है तब जाकर उनकी उत्सुकता समाप्त हुई। जहां एक ओर ये स्कूटर टूरिस्ट की सुरक्षा के लिए है, तो वहीं दूसरी ओर एक ऐसी तस्वीर सामने आई जिसे देखकर ऐसा लग रहा है कि ये स्कूटर पर्यटकों का मनोरंजन भी करा रही है। दरअसल पर्यटन थाना प्रभारी एक महिला पर्यटक को इसपर सैर करवाते दिखाई दिए।

ये तस्वीर गौदोलिया चौराहे की है, जहां पर्यटन थाना प्रभारी एक महिला पर्यटक को सेल्फ बैलेंसिग स्कूटर पर घूमाते दिखाई दे रहे है, मानो जैसे ये पर्यटकों के सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि उनके मनोरंजन के लिए इन्हें सौंपी गई हो। महिला भी इसपर सवार होकर काफी खुश दिखाई दे रही है, वहीं सामने एक आदमी उनकी सेल्फी लेते दिखाई दे रहा है।

अब सवाल ये उठता है कि ये सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर पर्यटकों की सेक्यूरेटी के लिए है, या मनोंरजन के लिए ये तो पर्यटन थाना प्रभारी ही बता पाएंगे।

बता दें कि, बीते शुक्रवार को कमिश्नरेट के पर्यटक थाने को उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक ने 10 सेल्फ बैलेंसिंग इलेक्ट्रिक स्कूटर सौंपे है। यह पर्यटकों की सुरक्षा करेगी, साथ ही भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में सौ से डेढ़ सौ मीटर की दूरी तक आसानी से निगरानी कर सकेगी। पुलिस ने गोदौलिया चौराहे से दशाश्वमेध घाट तक इन ई-स्कूटर की परेड के माध्यम से प्रदर्शन किया था, जिसे पुलिस आयुक्त मुथा अशोक जैन ने हरी झंडी दिखायी थी।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि यह ई-स्कूटर ईको फ्रेंडली हैं और संकरी गलियों में आसानी से चलने की क्षमता रखते हैं। बता दें कि इन स्कूटरों के साथ पर्यटक थाने के पुलिस कर्मियों को काशी विश्वनाथ धाम, गोदौलिया, दशाश्वमेध, मैदागिन, अस्सी, सारनाथ, कैंट स्टेशन, बाबतपुर एयरपोर्ट और मणिकर्णिका घाट क्षेत्र में तैनात किया जाएगा।

Ankita Yaduvanshi

Ankita Yaduvanshi

Next Story