वाराणसी। वाराणसी के दशाश्वमेध थाना क्षेत्र में शनिवार को एक महिला ने शनिवार को फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। इस मामले में महिला के भाई ने उसके पति पर हत्या का आरोप लगाते हुए ससुराल पक्ष पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में जुट गई है। वहीं पुलिस ने महिला के पति को हिरासत में लिया है।

जानकारी के मुताबिक, दशाश्वमेध थाना क्षेत्र के देवकीनंदन हवेली रामापुरा निवासी संजय यादव दावा व्यापारी हैं। उनके दो बच्चे हैं। शनिवार सुबह बच्चों ने मां ममता यादव (36 वर्ष) को नहीं देखा, तो घर में तलाश की। दूसरे मंजिल के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। काफी खटखटाने पर जब वह नहीं खुला, तो बड़े बेटे ने अंदर खिड़की से झांककर देखा, तो उसके होश उड़ गए। उसने अपनी मां को फंदे से झूलते हुए पाया। बेटे को शोर मचाने पर सभी परिजन वहां पहुंचे।

परिजन आनन-फानन में ममता को फंदे से उतारकर मंडलीय अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंचे एसीपी दशाश्वमेध अवधेश पांडेय व थाना प्रभारी दशाश्वमेध फ़ोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। इस दौरान फोरेंसिक टीम को भी बुलाया गया। मृतिका ममता यादव के भाई अश्वनी यादव ने आरोप लगाया कि मेरा जीजा संजय यादव मेरी बहन को बहुत प्रताड़ित करता था।

कुछ दिन पहले ही वह नाराज होकर अपने मायके आशापुर आई थी। तब संजय यादव ने काफी मिन्नत करते हुए बच्चों का हवाला देकर साथ चलने की बात कही। जिसके बाद 15 अगस्त के दिन ममता अपने पति के सतह घर लौटी। अश्वनी ने कहा कि मेरी बहन ख़ुदकुशी नहीं कर सकती। शक के आधार पर पुलिस ने संजय यादव को हिरासत में लिया है।

संजय की शादी 15 वर्ष पूर्व हुई थी। उनके 14 वर्ष व 11 वर्ष के दो बेटे हैं। एसीपी दशाश्वमेध अवधेश पाण्डेय ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और जांच के आधार पर आगे की कार्यवाही होगी।

बनारसी नारद

बनारसी नारद

Next Story