वाराणसी। जिंदगी में हर इंसान कोई न कोई ख्बाव देता है, जिसे वो पूरा करना चाहता है। कुछ लोगों के सपने महज सपने बनकर ही रह जाते है, तो किसी…

वाराणसी। जिंदगी में हर इंसान कोई न कोई ख्बाव देता है, जिसे वो पूरा करना चाहता है। कुछ लोगों के सपने महज सपने बनकर ही रह जाते है, तो किसी के ख्वाबों को किसी की मदद से पंख मिल जाते है और वे हकीकत में तब्दील हो जाते है। ठीक ऐसा ही देखने को मिला वाराणसी के पुलिस कमिश्नर ऑफिस में, जहां बिहार के दो कैंसर पीड़ित बच्चों का सपना था कि वो पुलिस अफसर बने। उनके इस सपने को पुलिस कमिश्नर अशोक मुथा जैन ने पूरा किया।

पुलिस आयुक्त मुथा अशोक जैन ने दोनों बच्चों को बुलाया और उन्हें बावर्दी और पुलिस कमिश्नर का स्टार लगाया दोनों बच्चे पुलिस कमिश्नर से मिले। उनस हाथ मिलाया। इसके बाद दोनों पुलिस कमिश्नर की कुर्सी पर बैठे। बच्चों को पुलिस कमिश्नर का यथोचित सम्मान देने के बाद उन्हें जिप्सी में बैठाया गया। इसके बाद दोनों बच्चों ने भ्रमण किया।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि यह दोनों बच्चे कैंसर से लड़ रहे हैं। इन दोनों का सपना था कि वे पढ़-लिख कर आईपीएस अफसर बनें। जब इस बात की जानकारी पुलिस कमिश्नर को हुई तो उन्होंने दोनों को आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि मैं देश के सभी बच्चों से यही कहना चाहता हूं अगर वो अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें, स्वास्थ्य पर ध्यान दें तो उन्हें उनके लक्ष्य को हासिल करने में दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती।

Updated On 16 Feb 2023 8:15 AM GMT
Ankita Yaduvanshi

Ankita Yaduvanshi

Next Story