Hot Air Balloon Festival In Varanasi : 17 जनवरी से 20 जनवरी तक काशी नगरी में गंगा की लहरों से आसमां तक मस्ती का खुमार छाया रहेगा, क्योंकि हॉट एयर…

Hot Air Balloon Festival In Varanasi : 17 जनवरी से 20 जनवरी तक काशी नगरी में गंगा की लहरों से आसमां तक मस्ती का खुमार छाया रहेगा, क्योंकि हॉट एयर बैलून फेस्टिवल (Hot Air Balloon Festival) और बोट रेस (Kashi Boat Festival) का आयोजन होने जा रहा है। जहां एक ओर हॅाट एयर बैलून में सवार होकर पर्यटक वाराणसी आसमान से काशी के मनोरम दृश्यों को निहार सकेंगे, तो वहीं दूसरी ओर उन्हें रोमांचक बोट रेसिंग देखने को मिलेगी। सबसे खास बात इस बैलून फेस्टिवल में एससीओ देशों के प्रतिनिधि भी शिरकत करेंगे।

एसीओ प्रतिनिधि होंगे इस आयोजन का हिस्सा

पहली बार एससीओ प्रतिनिधिमंडल के दौरे के उपलक्ष्य में, बनारस में 17 से 20 जनवरी, 2023 के दौरान एक हॉट एयर बैलून और एक अनोखे नौका दौड़ महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है भारत का यह भरा-पूरा और हलचल से भरा आध्यात्मिक केंद्र सही मायने में बादलों के बीच मंडराते हुए बिल्कुल अनोखे हॉट एयर बैलून के समूह से इस पावन धरती का विहंगम दृश्य प्रस्तुत करने के लिए तैयार है।

12 स्थानीय नाविकों की टीमें प्रतियोगिता में ले रही हिस्सा

इसके बाद एक काशी बोट फेसिटवल का आयोजन भी किया जाएगा, जिसका उद्देश्य वाराणसी की सांस्कृतिक पहचान- यानी इसकी प्रसिद्ध 'नौका' या नावों को दुनिया के सामने लाना है और इसे उन्नत, समकालीन यात्रियों के लिए एक अनोखे साहसिक खेल के रूप में प्रस्तुत करना है। पेशेवर नौचालकों और पारंपरिक नाविकों की बारह टीमें इस चार दिवसीय नौका दौड़ के दौरान गंगा की उमड़ती और गरजती लहरों के बीच नौका को पार करने के लिए प्रशिक्षण देंगी, और यह भविष्य में आने वाले यात्रियों के लिए एक ऐतिहासिक घटना बनने वाली है।

अनोखी बोट रेस लीग के लिए दी जा रही ट्रेनिंग

इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले स्थानीय टीमों को नाविक सेना, नौका सवार, भागीरथी सेवक, घाट रक्षक, गंगा वाहिनी, जल योद्धा, गंगा लहरी, गंगा पुत्र, काशी लहरी, गौमुख दैत्य, काशी रक्षक, और जल सेना का नाम दिया गया है। नौका दौड़ के विशेषज्ञ काशी की नई पीढ़ी के होनहार खिलाड़ियों को इस अनोखी बोट रेस लीग के लिए ट्रेनिंग दे रहे हैं।

चैंपियंस को मिलेगा 1.75 लाख रुपये का पुरस्कार

इस चार दिवसीय खेल प्रतियोगिता के लिए एक नई नियम पुस्तिका बनाई गई है और यह अंक प्रणाली, यानी प्वाइंट सिस्टम पर आधारित है, जिसमें सभी टीमें प्वाइंट हासिल करने के लिए हर दिन एक-दूसरे से मुकाबला करेंगी और कुल मिलाकर सबसे ज्यादा प्वाइंट हासिल करने वाली टीम इस चैम्पियनशिप की विजेता होगी और उसे खिताब दिया जाएगा। चैंपियंस को 1.75 लाख रुपये की पुरस्कार राशि घर ले जाने का शानदार मौका दिया जा रहा है।

इस समारोह में हर शाम राजघाट पर नाथू लाल सोलंकी, प्रेम जोशुआ, कबीर कैफे के साथ-साथ काशी की देसी प्रतिभा सुखदेव प्रसाद मिश्रा जैसे देश-विदेश के मशहूर इंडी / लोक संगीतकार भी शामिल होंगे और आम जनता बिना किसी शुल्क के इस भावपूर्ण संगीत का आनंद ले सकते हैं। इतना ही नहीं, इस कार्यक्रम में शहर के जाने-माने फोटोग्राफरों की फोटोग्राफी प्रदर्शनी की तरह कई अन्य गतिविधियाँ भी शामिल हैं जिनका प्रदर्शन राजघाट में किया जाएगा। इसके बाद, काशी के दिल में बसी कलात्मकता को कैनवास के जरिए दुनिया के सामने लाने के लिए कला एवं चित्रकला प्रतियोगिताओं की एक श्रृंखला भी आयोजित की जाएगी।

इस मौके पर आयुक्त कौशल राज शर्मा ने कहा कि, काशी की इस प्राचीन नगरी को देखने का नजरिया अलग- अलग है जो बदलाव के कई अनुभवों से गुजर चुका है, जिस नए जमाने के पर्यटक के सामने प्रस्तुत करने और इसकी ब्रांडिंग करने की जरूरत है। जिलाधिकारी एस राजलिंगम जी भी इस अवसर पर बोले कि काशी की सभ्यता विश्व की सबसे प्राचीन और अधुभूत है और इसको नई तरह से प्रस्तुत करने की जरूरत है।

उप निदेशक पर्यटन प्रीति श्रीवास्तव ने बताया कि यह एक बहुत ही अनोखा आयोजन है। हॅाट एयर बैलून बहुत ही एक्साइटिंग होता, रंग-बिरंगे गुब्बारों को आसमानों में उड़ते देखना, उनमें उड़ान भरना अपने आप में एक अलग ही तरह का अनुभव है। इसके साथ ही ये जो बोट इंवेट है ये भी बहुत नए तरीके का इवेंट हो रहा है। जिसमें हमनें 12 स्थानीय नाविकों की चीम बनाई गई है, उन्हें अलग अलग नाम दिया गया है। चार दिनों तक प्रतिदिन रेसिंग होगी।

Updated On 15 Jan 2023 6:29 AM GMT
Ankita Yaduvanshi

Ankita Yaduvanshi

Next Story